Uncategorized

features-of-object-oriented-programming in hindi

Characteristics of Object Oriented Programing in Hindi – C++

 

Introduction oops in C++ in Hindi (OOPs क्या है ?)

OOPs क्या है ? ( आसान भाषा में )

आपको इसके टाइटल से ही पता लग गया होगा की OOPs की full form क्या है परन्तु फिर भी हम आपकी जानकारी के लिए बता दे, की OOPs की full form क्या है – OOPs की full form Object Oriented Programing है ! अगर हम इसको आसन शब्दों में कहे तो ये code लिखने का या कोडिंग करने का एक ऐसा स्टाइल है ! जिसमे हम code को दो हिस्सों में बाट देते है – 1- Object 2- Class

ऐसा करने से आपकी मुश्किले और भी आसान बन जाती है ! इसकी वजह से आप अपने काम को बहुत ही आसान और सरल बना सकते है !

 

Procedure Oriented Programing (POP)

POP की full form प्रोसीजर ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग है ! इसका मतलब ये है की ये अपने काम को टुकडो में कई हिस्सों में तोड़ देता है ! POP फंक्शन्स का एक ऐसा कलेक्शन है ! इस प्रकार की टेकनीक में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कई हिस्सों में बाटी होती है !

जब POP प्रोग्रामिंग के अंदर Functions की संख्या (Size) बढ़ने लगता है ती इसे मैनेज करना और मुश्किल ओ जाता है ! जिस कारन programs के अंदर bugs (प्रोब्लम / कमियां) आ जाते है !

 

Object Oriented Programing (OOPs) in Hindi

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग (OOPs) एक ऐसा software development paradigm है, जोकि प्रोसीजर ओरिएंटेड अप्प्रोच में आने वाली problum को solve करने के लिए किया जाता है ! ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग implementation विधि है जिसमे फंक्शन  की बजाये डेटा को प्रोग्राम करने के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है !

ये Data प्रोग्रामिंग करने के दौरान सिस्टम में फ्लो नही होता और न ही किसी भी अन्य फंक्शन के दौरान अचानक change होने से भी रोकता है ! इसमें डेटा उन फंक्शन के साथ जुड़े होते है जिन्हें उनका प्रयोग करना होता है !

 

OPPs Concept in Hindi ?

  • Class :

Class एक ऐसा user define डेटा टाइप है ! जिसमे class, opps का सबसे बड़ा और important features मोजूद है इसके साथ साथ और कई अन्य features भी मोजूद है !

class data members और function members दोनों का एक कलेक्शन है ! इसमें data टाइप और derived data टाइप दोनों प्रकार के होते है !  जिसमे मेम्बर दोनों एक दुसरे के साथ रिलेटेड होते है ! इसमें data members को सिर्फ class members के फंक्शन के साथ ही एक्सेस किया जा सकता है अन्यथा नही किया जा सकता है !

  • Object :

OOPs की ये बेसिक Run Time entity है ! यह किसी Person, Bnak, Tv, Watch, Place आदि उन सभी चीजों को represent करते है, ये किसी प्रोग्रामर या व्यक्ति द्वारा मैनेज किये जाते है ! ये object किसी class का variable है जो class को execute करता है और उसके अंदर उपलब्द data को process करता है ! उसके ये object creat होने पर मेमोरी के तरह ही space लेता है जैसे songs,Videos आदि !

 

  • Inheritance :

यह OOPs का एक महत्वपूर्ण फीचर है, जो कि एक class को दूसरी class के features को access करने की facility प्रदान करता है । इसमे एक class का object अन्य class की properties को भी access कर यूज़ कर सकता है । यह reuseability के feature को implement करता है !

जहां किसी class मे नए features को add करने के लिए नई class बनाकर उसमें पुरानी class के features को भी implement किया जाता है, साथ ही नई class मे और codes भी जोड़ दिये जाते हैं । जो एक class से दुसरे class के feature को एक्सेस करने के अनुमति प्रदान करता है ! एक class की प्रॉपर्टी के गुणों को दूसरी class में यूज़ करना है inheritance कहलाता है !

 

  • Polymorphism :

यह भी OOPs का important concept है, जो की एक से अधिक form को बनाकर उसे use करने की Facility देता है । यह Function और Operators दोनों के द्वारा perform किया जाता है जहां function name (Operator) वही रहता है पर Arguments की संख्या या type या operands के type अलग होने पर अलग प्रकार से use होते है और task को perform करते हैं – जैसे + Operator Numerical Addition और Strings को जोड़ने के लिये use होता हैं।

 

  • Abstraction :

Data और Functions को एक साथ bind करना Encapsulation कहलाता है। यह class का सबसे महत्वपूर्ण feature है। इसमे डाटा को class के बाहर access नहीं किया जा सकता है, केवल class के functions ही इसे access कर सकते है। Data Abstraction बिना background process की details के data को इनपुट और आउटपुट करने से है, जिसमे यह Class के functions के द्वारा perform होता है।

 

Advantage of OOPs in Hindi

  • यह एक सुरक्षित विकास तकनीक है।
  • सब कुछ वस्तुओं के रूप में माना जाता है।
  • यह कक्षाओं की पुन: प्रोग्यता प्रदान करता है। वह पहले से ही उन्हें बार-बार लिखे बिना बनाया गया है।
  • प्रोग्रामर OOPS मेथड में लिखे जाते हैं। परीक्षण करना, प्रबंधन करना और साथ ही बनाए रखना इतना आसान है।

 

Disadvantage of OOPs in Hindi

  • OOPS कॉन्सेप्ट में प्रोग्राम बनाना थोड़ा मुश्किल है।
  • OOPS के साथ विकसित अनुप्रयोगों का आकार प्रक्रियात्मक तरीके से बड़ा है।
  • OOPS अवधारणा का उपयोग करके प्रोग्राम बनाने से पहले प्रोग्रामर के पास उचित योजना होनी चाहिए।

 

OPP तथा POP में अंतर ?

  • OOP में सभी बड़े प्रकार के प्रोग्राम को आसानी से मैनेज कर सकते है जबकि POP में इन प्रोग्राम हो हैंडल करना मुश्किल हो जाता है !
  • POP में डेटा फंक्शन से फंक्शन बेजा जा सकता है, जबकि OOP प्राइवेट होता है !
  • POP में हम देता को छुपा नही सकते जबकि OOP में हम किसी भी डेटा को छुपा सकते है !
  • POP में प्रोग्राम को down अप्रोच किया जाता है, जबकि OOP प्रोग्राम को object में विभाजित किया जाता है !
  • POP में नये फंक्शन डालने के लिए हमे प्रोग्राम को Revise करना पड़ता है जबकि OOP प्रोग्राम में फंक्शन डालने के लिए Revise करने की कोई जरुरत नही पड़ती !

 

मै आशा करता हु, आप सभी लोगो को ये OOPs के concept काफी अच्छे से समझ आ गये होगे ! अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल हो, तो आप उसे हमसे बेझिजक पूछ सकते है ! हमे आपकी सहायता करने में काफी खुसी होती है !!

About the author

Smartblogskill

Leave a Comment